Maha Shivratri - Shiv Barat 13 Feb 2018 | महाशिवरात्रि - शिवबारात 13 फरवरी 2018

a great company starts with us

अनेक चमत्कारों से युक्त सिद्ध स्थान व श्रधालुओं का केंद्र श्री बड़वाले महादेव मंदिर (श्री बटेश्वर शिव मंदिर ) भोपाल के कायस्थ्पुरा में स्थित है | इस मंदिर का इतिहास लगभग २०० बर्ष से भी अधिक पुराना है | इस मंदिर में स्थित शिवलिंग स्वम्भू है जो की वट वृक्ष में विराजमान है | इस वट वृक्ष में जटायें नहीं है इसलिए इसे नरबड़ भी कहा जाता है, एवं शिवलिंग को बटेश्वर महादेव कहते है | इन सब विशेषताओं के कारण यह मंदिर सम्पूर्ण भारत में विरले बताया जाता है | यही मंदिर कारण है की देश के महान संत और साधू सन्यासी यहाँ के दर्शन व साधना करने समय-समय पर आते जाते रहते है | मंदिर में प्रतिदिन प्रातः 8 बजे से महाभिशेक किया जाता है, एवं 2009 से 24 घंटे अखंड ॐ नमः सिवाय जाप किया जा रहा है | मंदिर में प्रत्येक प्रदोष पर विशेष श्रृंगार आरती एवं जागरण रात्रि 9 बजे किया जाता है, जिसमे श्रद्धालु बड़ी संख्या में उपस्थित होकर धर्म लाभ लेते है | मंदिर में अति प्राचीन धूना स्थित है जो बारह महीने और 24 घंटे चैतन्य रहता है | मंदिर में नीलकमल एवं शंगिपत्र का वृक्ष है जो भगवान को समर्पित किया जाता है |

भोपाल के इस प्राचीन सिद्ध मंदिर में 12 मॉस उत्सवो का माहौल रहता है, श्रावण के विशेष मॉस में प्रतिदिन रूद्राभिषेक ,नित्य भजन एवं श्रावन मॉस के सभी सोमवारों पर भगवान् का अलौकिक श्रृंगार किया जाता है | इसके साथ ही ख्यातिप्राप्त कलाकारों द्वारा , भजन मंडलियो द्वारा भजन एवं जागरण किया जाता है | प्रत्येक सोमवार पर मंडलियो द्वारा भजन एवं प्रत्येक शनिवार को "सुन्दरकाण्ड" का आयोजन पूरे वर्ष होता है |

जन्माष्टमी पर्व पर श्रीमदभागवत ज्ञान यज्ञ सप्ताह में बृजवासी विद्वानों एवं भागवत के प्रखंड पंडितो द्वारा जन्म उत्सव धूम धाम से मनाया जाता है | शरद पूर्णिमा के अवसर पर बटेश्वर भगवान् को नौका विहार कराया जाता है | दीपावली उत्सव पर विशेष श्रृंगार आरती एवं होली उत्सव पर गुलाल एवं रंगों से विशेष श्रृंगार किया जाता है | इसी के साथ प्रत्येक पुरुषोत्तम मॉस में शिवरात्रि का आयोजन वृहद् स्तर पर संपन्न होता है |

शिव शक्ति का प्रमुख आयोजन श्री महाशिवरात्रि पर्व एक महोत्सव के रूप में मंदिर में विगत कई दशको से आयोजित किया जा रहा है , जिसमे प्रतिवर्ष १५ से २० दिवशीय विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किये जाते है | प्रमुख आयोजन महा शिवरात्रि के दिन भगवान् बटेश्वर की बरात का नगर भ्रमण रहता है , जिसमे भगवान् बटेश्वर एक विशेष रथ में चांदी के नंदी पर सवार होकर नगर भ्रमण पर निकलते है | भोपाल ही नहीं बल्कि आस पास के क्षेत्रो के धर्मपरायण जनता के लिए एक अनूठा आयोजन है | इसमें धर्म प्रेमी जनता के साथ - साथ विभिन्न अवसरों पर महामहिम राज्यपाल , मुख्यमंत्री जी एवं अन्य मंत्रिगण तथा अधिकारी वर्ग भी अपनी आस्था के साथ जुड़े रहते है |

समस्त इच्छाओं की पूर्ती करने वाले "श्री बड़वाले महादेव" बड़े ही चमत्कारी है, जिनका, भक्तजन अपने - अपने तरीके से वर्णन करते है | यहि कारण है कि कई परिवार पीढ़ी दर पीढ़ी इस पावन स्थान से जुड़े हुए भगवान् शिव की अराधना करते हुए शुखमय जीवन व्यतीत कर रहे है |

© All Rights Reserved   बड़वाले महादेव

Developed By :OXENET

Online Darshan
Aarti Registration